डकैती के बाद बदमाशों ने ग्रामीण को मारी गोली

0
Subscribe us on Youtube

एटा। रिजौर थाने के वृंदावन गांव में हथियारबंद बदमाशों ने घर में लूटपाट करने के बाद पीछा कर रहे ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद ग्रामीणों ने फोन कर पुलिस को सूचना दी, लेकिन सूचना मिलने के 2 घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक बदमाश मौके से फरार हो चुके थे।

Subscribe Here to follow Nedrick News Official Youtube Channel

बताया जा रहा है कि वृंदावन गांव में गुरुवार की सुबह तीन बजे के आसपास तीन हथियारबंद बदमाश महावीर सिंह के यहां डकैती करने आये। इस दौरान लाखों रुपये की नकदी और जेवरात समेटने के बाद जब वो दूसरे घर में पहुंचे, तब तक ग्रामीणों ने शोर मचा दिया, जिसके बाद बदमाश मौके से भागने लगे।

ग्रामीणों ने बदमाश का पीछा किया, इसी दौरान 50 वर्षीय ग्रामीण अशोक कुमार ने एक बदमाश को पकड़ लिया, जिसके बाद बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। इस हादसे में उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

रिजौर थाने से करीब 5 किमी दूर वृंदावन गांव में डकैती की सूचना पुलिस को दिये जाने के बाद भी पुलिस को आने में दो घंटे लग गये। पुलिस के देर से पहुंचने के चलते ग्रामीणों में भारी रोष देखा गया। वहीं इस पूरे मामले पर पुलिस के आला अधिकारी सफाई देते नजर आये।

बता दें कि एटा जिले में डकैती कोई नई बात नहीं है। इससे पहले भी साल 2015 में कोतवाली थाना क्षेत्र के जरसिमी गांव में हथियार बंद डकैतों ने दो घरों पर धावा बोल दिया था। इस दौरान बदमाशों ने परिवारवालों को एक कमरे में बंद कर दिया था और लाखों की लूटपाट की थी। एक लड़की द्वारा शोर मचाने पर बदमाशों ने उसे और उसके चाचा को गोली मार दी थी। जिसके बाद दोनों को इलाज के लिये आगरा भेजा गया था। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस ने डकैतों की खोजबीन के लिये छापेमारी तेज कर दी थी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here