मंडी में धान का उठान नहीं होने से किसान परेशान

0
Subscribe us on Youtube

कुरुक्षेत्र। हरियाणा के कुरुक्षेत्र स्थित नई अनाज मंडी में धान का उठान नहीं होने से किसान परेशान हैं। मंडी में लाखों बोरे अभी तक नहीं उठ पाये। वहीं मंडी में बोरे जमा होने से आढ़तियों ने ब्रह्मसरोवर पर समानांतर अनाज मंडी खोल दी है।

Subscribe Here to follow Nedrick News Official Youtube Channel

बता दें कि कुरुक्षेत्र की नई अनाज मंडी में धान की आवक जोरों पर है, लेकिन अगर उठान की बात की जाये तो आवक के मुकाबले उठान की गति लगभग नगण्य है। इस कारण मंडी में लगभग दस लाख बोरे उठान के लिये पड़े हैं और अब तो मंडी में पैदल चलने का भी रास्ता नहीं बचा है। वहीं मंडी में लाखों बोरे नहीं उठ पाने के कारण आढ़तियों ने सभी कायदे कानून ताक पर रखकर ब्रह्मसरोवर के तट पर खुले आसमान के नीचे समानांतर मंडी खोल दी है और वहां सड़कों पर धान जमा है।

गौरतलब है कि देश-विदेश से ब्रह्मसरोवर आने वाले यात्री जो यहां स्नान करने के लिये आते हैं, ब्रह्मसरोवर की क्या छवि लेकर जाते होंगे, इस बात की चिंता ना केडीबी को है, न ही जिला प्रशासन को और ना ही मंडी प्रशासन को।

वहीं ब्रह्मसरोवर के तट पर धान लेकर आये किसान जागीर सिंह ने स्वीकार किया कि वो दो ट्रॉली धान लेकर आये हैं, लेकिन आढ़तियों ने कहा कि मंडी के अंदर धान नहीं जा सकता, ब्रह्मसरोवर के सामने जाकर डाल दो।

वहीं एक अन्य किसान रमेश कुमार ने भी यहीं बात बताई। इस मामले में नई अनाज मंडी के सचिव राहुल ने कहा की मंडी में सोलह लाख साठ हजार क्विंटल धान की आमद हो चुकी है, लेकिन कितना धान उठा, कितना बाकी रहा, उसकी कोई जानकारी नहीं है। वहीं उनसे ये पूछे जाने पर कि मंडी के बाहर धान गिर रहा है तो उन्होंने स्वीकार किया कि धान गिर रहा है, लेकिन किसकी अनुमति से और क्यों गिर रहा है इस बारे में वो मौन साध गये।

रिपोर्ट – दर्शन कैत 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here