देश में पहली बार सभी पोलिंग बूथ पर होगा VVPAT का इस्तेमाल

चुनाव आयोग ने अपनी घोषणा में कहा है कि देश में पहली बार ऐसा होगा जब सभी पोलिंग बूथ पर VVPAT वाली ईवीएम मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। वीवीपैट यानि वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल सिस्टम। चुनाव में निष्पक्षता लाने के लिए चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया है।

0
Subscribe us on Youtube

नई दिल्ली। साल के अंत में होने वाले गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने गुरुवार को बड़ी घोषणा की है। चुनाव आयोग ने अपनी घोषणा में कहा है कि देश में पहली बार ऐसा होगा जब सभी पोलिंग बूथ पर VVPAT वाली ईवीएम मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। वीवीपैट यानि वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल सिस्टम। चुनाव में निष्पक्षता लाने के लिए चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया है कि इस साल होने वाले चुनाव में राज्य के सभी 50128 मतदान केन्द्रों पर वोटर-वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) की पर्ची वाली प्रणाली युक्त ईवीएम के जरिए मतदान करवाया जाएगा। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और प्रधान सचिव बीबी स्वैन ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि वीवीपैट के इस्तेमाल से मतदाता को पारदर्शिता के अनुभव के साथ नया अधिकार भी मिलेगा।

Subscribe
Here
to follow Nedrick News Official Youtube Channel

उन्होंने बताया कि इससे पहले 2012 में हुए चुनाव के दौरान केवल राज्य के गांधीनगर में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर वीवीपैट मशीन का प्रयोग किया गया था। उन्होंने बताया कि इस बार पूरे राज्य में वीवीपैट मशीन का प्रयोग कर चुनाव कराया जाएगा। आपको बता दें कि वीवीपैट से प्रत्येक वोट के दर्ज होने में 7 सेकंड का समय लगता है। इसके चलते मतदान की समयावधि में भी बढ़ोतरी के लिए केन्द्रीय चुनाव आयोग से कहा गया है।

गुजरात में बढ़ी हैं मतदाताओं की संख्या
साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले मतदाता सूची में हुए पुनरीक्षण के दौरान राज्य में मतदाताओं की संख्या बढ़ने की खबर है। प्राप्त हो रही जानकारियों के मुताबिक मतदाताओं की संख्या छह लाख से अधिक बढ़कर चार करोड़ 33 लाख से अधिक हो गई है। नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष जुलाई में एक माह चले पुनरीक्षण के दौरान कुल 619294 नए मतदाता जोड़े गए हैं।

 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here